Home » Bhrst Kute by Mr. Shankar
Bhrst Kute Mr. Shankar

Bhrst Kute

Mr. Shankar

Published December 12th 2014
ISBN :
ebook
Enter the sum

 About the Book 

गुंडा दोनोँ हाथोँ से दनादन गोलियां चला रहा था। उसने कयी पुलिस वालोँ के भेजे उडा दिये । हार कर पुलिस वालोँ को पीछे हटना पडा। उसने जैसे ही पुलिस की गाडियोँ को पार किया . सुधा ने उस पर गोली चलादी। गोली उसके पैर मे जा लगी । वह जोर से उछला और बाईक पर पीछेMoreगुंडा दोनोँ हाथोँ से दनादन गोलियां चला रहा था। उसने कयी पुलिस वालोँ के भेजे उड़ा दिये । हार कर पुलिस वालोँ को पीछे हटना पड़ा। उसने जैसे ही पुलिस की गाड़ियोँ को पार किया . सुधा ने उस पर गोली चलादी। गोली उसके पैर मे जा लगी । वह जोर से उछला और बाईक पर पीछे मुँह करके बैठ गया ।फिर वापस उसकी गन ने धुँवां उगला और एक गोली गाड़ी के काँच तोड़ते हुए सुधा के हाथ मे घुस गयी। सुधा एकदम चीख उठी । गुस्से मे उसने अपनी गन की सारी गोलियां बाईक सवार पर दाग दी।